05 June 2009




so green

5 comments:

ताऊ रामपुरिया said...

बहुत सामयिक चित्र धन्यवाद.

रामराम.

राज भाटिय़ा said...

इस से भी ज्यादा हरियाली है हमारे यहां, भारत मै भी हो सकती है, बस हमे अपनी सोच बदलनी पडेगी.भगवान की बनाई दुनिया से प्यार करे तब.

tanu sharma.joshi said...

very beautiful...harapan aur iski andar tak thandak de rahi hai...!!

डा.राष्ट्रप्रेमी said...

very good

ताऊ रामपुरिया said...

इष्ट मित्रों एवम कुटुंब जनों सहित आपको दशहरे की घणी रामराम.